Ellora Caves History in Hindi- अज्ञात तथ्य और इतिहास।

Spread Love

Ellora Caves History In Hindi

Ellora की प्रसिद्ध गुफाएं महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में स्थित है। इसकी अद्भुत बनावट एवं धार्मिक विशेषताओं की वजह से इसे Unesco ने विश्व धरोहर स्थल के रुप में शामिल किया है। यह मशहूर Ellora Caves औरंगाबाद से करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर बेसाल्टिक की पहाड़ी के किनारे बनी हुई हैं।

Ellora Caves – Verul, India

Ellora Caves – Verul, India

Image source: https://www.atlasobscura.com/places/ellora-caves

Ellora Caves में करीब 34 बेहद आर्कषक गुफाएं शामिल है, जिन्हें देखने दूर-दूर से पर्यटक आते हैं। इन गुफाओं में हिन्दू, जैन एवं बौद्ध धर्म का अद्भुत संगम देखने को मिलता है। ये गुफाएं दुनिया के सबसे बड़े रॉक-कट मठ-मंदिर गुफा परिसरों में से एक मानी जाती है। ( Ellora caves History in Hindi )

अपनी अद्भुत शिल्पकारी एवं अद्दितीय बनवाट के साथ अपनी अलग-अलग विशेषताओं के लिए यह गुफाएं दुनिया भर में मशहूर हैं। Ellora Caves कैलाश मंदिर एवं सबसे बड़ी एकल अखंड रॉक खुदाई की वजह से भी विश्व भर में जानी जाती हैं। आइए जानते हैं एलोरा की अद्भुत गुफाओं के बारे में –

आस्था का त्रिवेणी संगम हैं एलोरा की गुफाएं ( Ellora Caves History in Hindi )

वर्ल्ड हेरिटेज साइट Unesco द्धारा विश्व धरोहर की लिस्ट में शामिल Ellora की प्रसिद्द गुफाओं में 1 से 12 तक करीब बौद्ध धर्म की, 13 से 29 तक हिन्दू धर्म एवं 30 से 34 तक जैन धर्म की से संबंधित स्मारकों की बेहद आर्कषक गुफाएं हैं। इसके साथ ही इस गुफा में प्रसिद्ध कैलाश मंदिर भी बना हुआ है, जिससे कई पौराणिक कथाएं जुड़ी हुई हैं।

Kailasa Temple in Ellora, India

Kailasa Temple in Ellora, India

Image source:https://ttravelog.com/articles/kailasa-temple-in-ellora-india-travel-guide_pr.html

इसके अलावा इस गुफा में विश्वकर्मा देवता को समर्पित 10 चैत्यगृह भी हैं। करीब 350 से 700 ईसवी  के दौरान अस्तित्व में आईं इन गुफाओं का निर्माण राष्ट्रकूट वंश के शासनकाल के दौरान किया गया है।( Ellora caves History in Hindi )

Ellora Caves का इतिहास और जानकारी ( Ellora Caves History in Hindi )

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में स्थित Ellora की यह प्राचीन गुफाएं यानि Verul Caves और स्मारकों का इतिहास राष्ट्रकूट वंश के शासनकाल से जुड़ा हुआ है। इतिहासकारों की माने तो राष्ट्रकूट वंश के शासकों ने हिन्दू और बौद्ध धर्म की उत्कृष्ट गुफाओं का निर्माण करवाया था जो कि अपनी अद्भुत शिल्पकारी एवं अनोखी धार्मिक कला के लिए जानी जाती हैं।

जबकि जैन धर्म से संबंधित गुफाओं का निर्माण यादव वंश के शासनकाल में माना जाता है। यह भी कहा जाता है, इन हिन्दू, जैन और बौद्ध तीनों धर्मों के प्रति दर्शाई आस्था का त्रिवेणी संगम का प्रभाव देखने को मिलता है। इन गुफाओं के निर्माण के लिए कई बड़े व्यापारियों औऱ धनी लोगों ने धन दिया था।( Ellora caves History in Hindi )

Ellora Caves in Maharashtra | Wanders Miles

Ellora Caves in Maharashtra

Image source: https://www.wandersmiles.com/visit-ellora-caves-maharashtra/

इन बेहद आर्कषक एवं भव्य गुफाएं को देखने दूर-दूर से लोग आते हैं, वहीं ये गुफाएं सैलानियों के लिए शानदार विश्राम स्थल के रूप में भी जानी जाती हैं। एलोरा गुफाओं (Alora ki Gufa) के पास में ही दुनिया भर में मशहूर अजंता की गुफाएं भी स्थित है।( Ellora caves History in Hindi )

एलोरा गुफाओ के बारे में कुछ रोचक बाते – Interesting Facts About Ellora Caves In Hindi

1). एलोरा की गुफाओ को वेरुल के लेनी के नाम से भी जाना जाता है।

2). एलोरा की गुफाओ में से दी ग्रेट कईलसा गुफा वहा की सबसे बड़ी गुफा है।

3). आर्कियोलॉजिस्टों के अनुसार इसे कम से कम 4,000 वर्ष पूर्व बनाया गया था।

4). एल्लोरा, विश्‍व में सबसे बड़े एकल एकचट्टानी उत्‍खनन, विशाल कैलाश (गुफा 16) के लिए विख्‍यात है। कहा जाता है कि इस गुफ़ा का निर्माण, राष्ट्रकूटों के शासक प्रथम कृष्णा द्वारा करवाया गया था। यह बहु-मंजिल गुफा मंदिर कैलाश मंदिर, भगवान शिव जी के घर को समर्पित है।( Ellora caves History in Hindi )

5). एलोरा की गुफाएं न केवल यह गुफा संकुल एक अनोखा कलात्‍मक सृजन है साथ ही यह तकनीकी उपयोग का भी उत्‍कृष्‍ट उदाहरण है। परन्‍तु ये शताब्दियों से बौद्ध, हिन्‍दू और जैन धर्म के प्रति समर्पित है। ये सहनशीलता की भावना को प्रदर्शित करते हैं, जो प्राचीन भारत की विशेषता रही है

6). गुफ़ा न.10, निर्माण या सृजन के देवता विश्वकर्मा भगवान जी को समर्पित है इसलिए इस गुफ़ा को विश्वकर्मा गुफ़ा कहते हैं। गुफ़ा के अंदर भगवान बुद्ध की 15 फ़ीट की मूर्ति उपदेश देने की मुद्रा में विराजमान है। इस गुफ़ा में स्थित दो धर्मों के ऐसा अद्भुत मेल बहुत ही दुर्लभ है।( Ellora caves History in Hindi )

7). यहां की गुफाएं महाराष्ट्र की ज्वालामुखीय बसाल्टी संरचनाओं को काट कर बनाई गई हैं, जिन्हें ‘दक्कन ट्रेप’ कहा जाता है।

8). यहां की शानदार जैन गुफाएँ हैं जिनमे इंद्र सभा, जगन्नाथ सभा व छोटा कैलाश गुफाएं, यहाँ स्थित जैन गुफाओं में सबसे ज़्यादा प्रसिद्द और उल्लेखनीय हैं। इनकी दीवारें बहुत ही ख़ूबसूरत चित्रों व विस्तृत कलाकृतियों से सजाई गयी थीं।

9). गुफ़ा न.10, निर्माण या सृजन के देवता विश्वकर्मा भगवान जी को समर्पित है इसलिए इस गुफ़ा को विश्वकर्मा गुफ़ा कहते हैं। गुफ़ा के अंदर भगवान बुद्ध की 15 फ़ीट की मूर्ति उपदेश देने की मुद्रा में विराजमान है। इस गुफ़ा में स्थित दो धर्मों के ऐसा अद्भुत मेल बहुत ही दुर्लभ है।( Ellora caves History in Hindi )

10). ऐसा बोला जाता है कि इन गुफाओं को बनाने में एलियंस की मदद ली गयी थी। इंसान खुद इनको नहीं बना सकता था और ना ही इस तरह तब कोई तकनीक थी. कई भारतीय संत तब एलियंस की दुनिया से बात कर सकते थे। यह लोग एलियंस को धरती पर बुला सकते थे और इसी क्रम में एलियंस यहाँ पृथ्वी पर आये होंगे और उन्होंने अपनी कला का प्रयोग करते हुए इतना शानदार काम किया होगा।

Mera bharat mahan ,  I am proud to be an Indian.”


Spread Love

Leave a Reply

Your email address will not be published.