KK (Krishnakumar Kunnath) Biography in Hindi 

Spread Love

KK (Krishnakumar Kunnath) Biography in Hindi 

KK  उर्फ़ Krishnakumar Kunnath एक भारतीय गायक हैं, जिन्होंने हिंदी, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, मराठी, बंगाली और गुजराती फिल्मों में गाया है। उन्हें ‘के के’ के नाम से जाना जाता है।

31 मई 2022 को 53 वर्षीय गायक बॉलीवुड गायक KK (Krishnakumar Kunnath)  लाइव प्रदर्शन के बाद कोलकाता में निधन हो गया।

चार साल की अवधि में, उन्होंने 11 भारतीय भाषाओं में 3,500 से अधिक जिंगल गाए हैं। उन्हें अपना पहला ब्रेक यूटीवी से मिला और वह अपने गुरु लेस्ले लुईस की प्रशंसा करते हैं, जिन्होंने उन्हें अपना पहला जिंगल गाने का मौका दिया।

उन्होंने हिंदी में 500 से अधिक गाने और तेलुगु, बंगाली, तमिल, कन्नड़ और मलयालम भाषाओं में 200 से अधिक गाने गाए हैं।

अरिजीत सिंह ,अंकित तिवारी, प्रीतम , अरमान मलिक जैसे कई बड़े गायक और संगीतकार उनकी आवाज और संगीत के उनके ज्ञान की प्रशंसा करते हैं।

Also read: Sarabjit Singh – अनजाने में पाकिस्‍तानी सीमा पर पहुंचा था।

पृष्ठभूमि

Krishnakumar Kunnath उर्फ़ KK 23 अगस्त 1968 को केरल में हुआ था।  उनके पिता का नाम सीएस नायर और माँ का कनाकवाल्ली है। हिंदी सिनेमा में एंट्री लेने से पहले ही KK करीबन 35000 ऐड जिंगल्स कर चुके थे।  उन्होंने 1999 क्रिकेट विश्व कप के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के समर्थन के लिए “जोश ऑफ़ इंडिया” गाना गाया| इस के बाद, उन्होंने पल नामक एलबम निकला जिसे सर्वश्रेष्ठ सोलो एल्बम के लिए स्टार स्क्रीन पुरस्कार मिला| इस एल्बम के दो गाने ‘पल’ और ‘यारों’ काफी लोकप्रिय थे|

पढ़ाई 

KK का पूरा बचपन दिल्ली में बीता।उन्होंने दिल्ली के माउंट सेंट मैरी स्कूल  शुरुआती शिक्षा पूरी की।  उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन दिल्ली यूनिवर्सिटी के करोड़ीमल कॉलेज से पूरी की है।

शादी 

साल 1991 में उन्होंने अपनी बचपन की दोस्त ज्योति से शादी रचाई।  KK एक बहुत ही जिम्मेदार व्यक्ति हैं।  जब भी उनके पास वक्त होता वो वह अपने परिवार के साथ रहते हैं।  एक इंटरव्यू के दौरान केके ने कहा था, मेरा परिवार ही मेरी ताकत है, वो मुझे हर कजोरी से लड़ने की ताकत देता है।   उनके एक बेटा और बेटी हैं।  उनका बीटा नकुल जिसने एल्बम ‘हमसफ़र’ में एक गीत “मस्ती” गाया है| केके की एक बेटी भी है जिसका नाम तामारा है|

करियर 

KK कभी भी एक गायक नहीं बनना चाहते थे, उनका बचपन से सपना डॉक्टर बनने का था। KK किशोए कुमार  बर्मन को अपना गुरु मानते हैं और उन्ही को ध्यान में  संगीत को अपना करियर बना किया।  कॉलेज के दिनों के दौरान उन्होंने अपने दोस्त के साथ मिलकर एक बैंड  किया था।
KK को पहला ब्रेक यूटीवी ने दिया था।  उन चार सैलून की अवधि में केके ने 11 भारतीय भाषाओं में 3,500 से अधिक विज्ञापनों में काम किया है| KK लेस्ली लेविस को अपना गुरु मानते है, क्योँकि, उन्होंने ही केके को पहली बार विज्ञापन में गाने का मौका दिया था | KK ने हिंदी में 250 से भी अधिक गाने गाये है, एवं तमिल और तेलेगु में 50 से भी अधिक गाने गाये है|
विख्यात फिल्म निर्देशक विशाल भरद्वाज ने KK को बॉलीवुड में गाने का पहला मौका दिया | उन्होंने बॉलीवुड में अपना कार्यकाल “माचिस” के ‘छोर आये हम’ से शुरू किया और आगे चलकर कई और लोकप्रिय गाने गाये| उन्हें अपना पहला सोलो गाना भी विशाल भरद्वाज ने ही दिया | पर यह “हम दिल दे चुके सनम” के ‘तड़प तड़प के’ में उनका भावपूर्ण गायन ही था जिससे उन्हें प्रसिधी मिली |

टीवी करियर 

साल 1999 में सोनी म्यूजिक लॉन्च हुआ तो वे एक नए गायक को लॉन्च करना चाहते थे| इस काम के लिए KK को चयनित किया गया।  उस दौरान उन्होंने ‘पल’ नमक एक सोलो एल्बम निकला जिसके संगीत निर्देशक लेस्ली लेविस थे। उनका दूसरा एल्बम हमसफ़र 24 जनवरी 2008 को रिलीज किया गया।
KK सिंगिंग बेस्ड शो ‘फेम गुरुकुल’ में बतौर जज नज़र आ चुके हैं। हालंकि वह इसके बाद दुबारा छोटे  भी शो में नज़र नहीं आये।  उनका कहना है कि  यह माध्यम उन्हें प्रतिबंधित रखती है|

प्रसिद्ध गाने 

पल, तड़प-तड़प के, सच कह रहा है दीवाना, आवारापन बंजारापन, आशाएं,तु ही मेरी शब है, क्या मुझे प्यार है, लबों को, जरा सा, खुदा जानें, दिल इबादत,है जूनून, जिंदगी दो पल की, मै क्या हूँ।  हां तू है, अभी-अभी , हा तुझे सोचता हूँ, इंडियावाले , तो जो मिला।
KK Krishnakumar Kunnath biography in hindi

Spread Love

Leave a Reply

Your email address will not be published.