Sidhu Moose wala biography in Hindi

Spread Love

सिद्धू मूसे वाला का जीवन परिचय, हत्या Sidhu Moose wala biography in Hindi वक़्त बड़ी तेजी से बदलता है । अब वह दौर नहीं जब आप अपनी प्रतिभा के लिए दूसरों पर निर्भर रहा करते थे । आप में प्रतिभा है तो सोशल मीडिया प्लेटफार्म या स्टेज शोज के जरिये आपके टैलेंट का डंका दुनिया के हर कोने में बजेगा । आज हम आपको जिस शख्स से अवगत करा रहे है वह शख्स अपने टैलेंट का डंका यूट्यूब और स्टेज शोज पर बजा कर ही पंजाबी इंडस्ट्री का जाना माना नाम बन गया है ।

Sidhu Moose wala biography in Hindi

असली नाम (Real Name) शुभदीप सिंह सिद्धू
निक नेम (Nick Name ) सिद्धू मूसेवाला, मूसेवाला
जन्मदिन (Birthday) 11 जून 1993
जन्म स्थान (Birth Place) गांव मूसा वाला, मनसा, पंजाब, भारत
उम्र (Age ) 29 साल (मृत्यु तक )
मृत्यु की तारीख Date of Death 29 मई 2022
मृत्यु का स्थान (Place of Death) पंजाब
मृत्यु का कारण (Death Cause) उनकी हत्या कर दी गई
शिक्षा (Education ) इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डिग्री
कॉलेज (College ) गुरु नानक देव इंजीनियरिंग कॉलेज, लुधियाना, पंजाब
राशि (Zodiac) मिथुन राशि
नागरिकता (Citizenship) भारतीय
गृह नगर (Hometown) गांव मूसा वाला, मनसा, पंजाब, भारत
धर्म (Religion) सिख
जाति (Cast ) जाट
लम्बाई (Height) 6 फीट 1 इंच
वजन (Weight ) 85 किग्रा
आँखों का रंग (Eye Color) काला
बालो का रंग( Hair Color) काला
पेशा (Occupation) गायक, गीतकार, मॉडल, राजनीतिज्ञ
पहली फिल्म (Debut ) गीतकार: लाइसेंस- निंजा द्वारा (2016)
गायन (युगल): गुरलेज़ अख्तर के साथ बिलोंग करदा
वैवाहिक स्थिति Marital Status अवैवाहिक

पंजाबी युवा इनके गानों और इनकी पर्सनालिटी की इतने दीवाने है कि एक अलग सा नशा सा छा जाता है, जब भी इन का नया गाना आता है । इनके खिलाफ कुछ सुनने पर लड़ने और बहस करने को तैयार इनकी फैन फोल्लोविंग काफी जबरदस्त है ।

आपने भी सिद्धू मूसेवाला का नाम सुना होगा या आपने पंजाबी गाना ‘So High’ को सुना या देखा होगा या फिर यह नाम पहली बार सुन रहे होंगे । तो चलिए सिद्धू मूसेवाला के जीवन से जुड़े सफर को आप के साथ साझा करते है ।

हत्या

कांग्रेस नेता और पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की 29 मई 2022 को अज्ञात हमलावरों ने मनसा जिले में गोली मारकर हत्या कर दी.

तीन अन्य लोगों के साथ अपनी एसयूवी में अपने गाँव मनसा जा रहे मूसेवाला पर जबर्दस्त फायरिंग की गई, उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहाँ उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

बता दे पंजाब सरकार ने एक दिन पूर्व ही 424 लोगों की सुरक्षा वापिस ली थी, जिनमें शुभदीप सिंह उर्फ़ सिद्धू मूसेवाला भी एक थे.

कौन है Sidhu Moose wala ?? क्या करते है Sidhu Moose wala ??

Sidhu Moose wala का असल नाम शुभदीप सिंह सिद्धू है । सिद्धू का परिवार अपने गांव के साथ काफी जुड़ाव रखता है और इसी जुड़ाव के चलते शुभदीप सिंह सिद्धू ने अपने नाम के आगे गांव का नाम जोड़ रखा है और अब यह सिद्धू मूसेवाला के नाम से ही दुनिया भर में जाने जाते है ।

Sidhu Moose wala का जन्म 11 जून 1993 को मानसा जिला के मूसा गांव में हुवा । सिद्धू के पिता भोला सिंह सिद्धू सेवानिवृत्त सैनिक रहे है और सिद्धू के माता चरण कौर सिद्धू मूसा गाँव की सरपंच है । सिद्धू मूसेवाला सिख समुदाय से तालुक रखते है। उनका एक छोटा भाई भी है जिनका नाम गुरप्रीत सिंह सिद्धू है ।

पेशे से सिद्धू मूसेवाला पंजाबी लेखक (लिरिक्स राइटर), पंजाबी सिंगर, रैपर ,एक्टर है और अब पंजाब की राजनीति में भी आ चुके है ।

कैसे शुभदीप सिंह सिद्धू ने पंजाबी इंडस्ट्री में अपना करियर बनाया ??

Sidhu Moose wala के माता पिता चाहते थे कि शुभदीप पढ़ लिख कर बड़ा आदमी बने और पढाई-लिखाई पर ज्यादा ध्यान दे जैसा कि हर माता पिता चाहते है । पर शुभदीप को बचपन से ही गाने का शौक था ।

गवर्नमेंट मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल – मनसा से सिद्धू ने पढाई की । स्कूल मानसा से ही सिंगिंग कम्पटीशन में भाग लेने के अलावा भी स्कूल में शुभदीप गाना गाने और एक्टिंग करने में काफी खुश रहते थे । सिद्धू गाते भी बहुत प्यारा थे, वही से इनका सिंगिंग के प्रति रुझान हो गया।

स्कूली शिक्षा पूरी होने के बाद इंजीनियर बनने का सपना लेकर सिद्धू मूसे वाला गुरु नानक देव इंजीनियरिंग कॉलेज लुधियाना में चले गए । सिद्धू ने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में B.Tech किया है । पर बिजली के तारो में ना ही सही पर हमारे दिलो में ही इनके गानो का करंट बजता रहता है।

वह कॉलेज की फ्रेशर पार्टी से लेकर हर कार्यकर्म फंशन में गाना गा कर न केवल अपने साथियों का बल्कि लड़कियों और टीचर्स का भी दिल जीत लिया करते थे ।

कॉलेज में एक घटना ऐसी हुई जिसने Sidhu Moose wala के दिल में सिंगर बनने की आग जलाई –

हुआ यूँ कि कॉलेज में सिद्धू मूसे वाला के गानो की सभी तारीफ करते, जिसे देखते हुए उनका मन होता है की वो किसी म्यूजिक कंपनी के लिए स्टूडियो में गाये और इसके लिए उन्होंने खूब कोशिश भी की।

कुछ संगीत लेखक (Song Writer) साफ़ मना कर देते है तो कुछ इतनी ज्यादा रेट बता देते है की मूसे वाला इतने पैसो का इंतज़ाम नहीं कर पाते हैं।

Also read: Nikhat Zareen Indian Boxer: इतिहास रचने वाली निकहत जरीन

कुछ समय बाद किसी बड़े संगीतकार का फ़ोन आता है की वो उनके गाने गा सकते है । ये फ़ोन सिद्धू मूसे वाला को इतना खुश करता है की इनको रात भर नींद नहीं आती । अगले दिन वो जाते है पर वो संगीतकार उन्हें नहीं मिलते और वो संगीतकार उनको खूब दिनों तक घुमाने के बाद भी “नहीं” मिलते ।

इस घटना से सिद्धू मूसेवाला का दिल टूट जाता है और दिल में चिंगारी जल जाती है । अब Sidhu Moose wala ने ठान लिया कि वो खुद के गाने लिखेंगे और ” कहते है ना मान लो तो हार है और ठान लो तो जीत है “ बस यही हुआ और फिर काफी मुश्किलों का सामना कर जैसे तैसे उन्होंने खुद के गीत लिखे और उन्होंने गाना गाना शुरू किया ।

सिद्धू कड़ी मेहनत करते रहे, फिर कॉलेज पूरी करके वह कनाडा चले गए फिर इन्होने अपना सिंगिंग करियर शुरू किया । “Licence” गाने के “Lyrics” लिख कर जिसे “Ninja” ने गाया और ये गाना सुपर डुपर हिट रहा और फिर अपना खुद का गाना “G wagon” गाने के साथ सिद्धू मूसे वाला छा गए और फिर तो इनका ही जलवा चल रहा है ।

फिलहाल Sidhu Moose wala कांग्रेस पार्टी में आने से भी सुर्ख़ियों में है

Sidhu Moose wala ने 2022 पंजाब चुनाव के लिए अपने जिला मानसा से चुनाव में उतरने का ऐलान किया है । इस बात का ऐलान सिद्धू ने 3 दिसंबर 2021 को कांग्रेस पार्टी से जुड़ के ही दिया है । सिंगर मूसेवाला के इस फैसले का स्वागत पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और पंजाब कांग्रेस के चीफ नवजोत सिंह सिंधु ने दिल खोल के किया है ।

दोनों कांग्रेस लीडर चरणजीत सिंह चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू का मानना है की सिद्धू यंग लीडर है जो युवाओ कि भावनाओं को बेहतर तरीके से समझते है और उनके पार्टी में आने से पंजाबी युवाओं को सही दिशा मिलेगी । देखते है मूसेवाला के गानो के पीछे दीवाने रहने वाले युवा इस चुनाव में इनके ऊपर कितना प्यार दिखाते है।

Sidhu Moose wala का मानना है की ” वो राजनीति में इसलिए नहीं आये की पैसे कमा सके या फिर नाम कमा सके । वो सिर्फ अपने लोगो और अपने क्षेत्र के लोगो के लिए आवाज उठा सके और वो सरकारी सिस्टम का हिस्सा बन कर कुछ अच्छा बदलाव ला सके ।

वैसे इससे पहले भी Sidhu Moose wala राजनीति से जुड़ रहे है । 2018 में उनकी मां ने सिद्धू मूसे वाला का खूब जोर शोर से सफल प्रचार प्रसार किया था।

विवादों से हमेशा जुड़े रहते है Sidhu Moose wala –

  • झगड़ा

करण औजला के साथ सिद्धू का विवाद किसी से छिपा नहीं है दोनों ही सोशल मीडिया , शोज और अपने गानों के माध्यम से एक दूसरे पर तंज़ कसते रहते है इस कारण दोनों ही सिंगर को आलोचना का समाना करना पड़ता है ।

  • AK-47 ट्रेनिंग विवाद

4 मई 2020 को सिद्धू मूसेवाला के 2 वीडियो वायरल हुए, जिनमे वो 5 पुलिस वालो के साथ AK-47 चलाने की ट्रेनिंग ले रहे थे । इस वीडियो के बाद उन पुलिस वालो को ससपेंड कर दिया गया और मूसेवाला पर आर्म्स एक्ट के तहत केस हो गया ।

इसके बाद मूसेवाला को भी गिरफ्तार किया जाता इससे पहले ही वह अंडरग्राउंड हो गए और फिर पुलिस की तहकीकात में शामिल हो गए, जिससे अंत में उन्हें बेल मिल गयी ।

संजू मूवी आने के बाद मूसेवाला ने अपना एक सांग “sanju” रिलीज़ किया जिसमे खुद के ऊपर लगे इलज़ाम को ठीक वैसे बताया जैसे संजू मूवी में संजय दत्त पर बताये गए है ।

Sidhu Moose wala का परिवार 

पिता का नाम (Father’s Name) भोला सिंह सिद्धू
माता का नाम (Mother’s Name) चरण कौर सिद्धू (ग्राम मूसा की सरपंच)
भाई (Brother ) गुरप्रीत सिद्धू

Sidhu Moose wala का करियर (Career )

संगीत –

मूसेवाला ने 2016 में गीतकार के रूप में अपना करियर ‘लाइसेंस’ गाने के बोल लिखकर शुरू किया, जिसे पंजाबी गायक निंजा ने गाया था। गाना तुरंत हिट हो गया।

इसके बाद उन्होंने गायकों दीप झंडू, एली मंगत और करण औजला के साथ काम किया। 2017 में, सिद्धू ने पंजाबी गीत “जी वैगन” के साथ गायन में अपनी शुरुआत की।

उसी वर्ष, उन्होंने “सो हाई” गीत को अपनी आवाज दी। दोनों गाने सुपरहिट थे और उन्हें व्यापक लोकप्रियता मिली। इसके बाद, उन्होंने “रेंज रोवर,” “दुनिया,” “डार्क लव,” “टोचन,” और “इट्स ऑल अबाउट यू” जैसे कई लोकप्रिय पंजाबी गाने जारी किए।

राजनीति

3 दिसंबर 2021 को, मूसेवाला मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और पीपीसीसी प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू की उपस्थिति में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी) में शामिल हो गए ।

सिद्धू मूसे वाला के विवाद (Sidhu Moose wala Controvercy )

  • Sidhu Moose wala करण औजला के अच्छे दोस्त थे, लेकिन दोनों के बीच झगड़ा हो गया और करण ने कथित तौर पर रिलीज से पहले मूसेवाला के विभिन्न गाने लीक कर दिए। 2018 में, औजला ने सनम भुल्लर के साथ दीप जंदू और लफाफे के साथ ‘अप एंड डाउन’ गाने जारी किए जिसमें उन्होंने सिद्धू को बदनाम किया। यह अभिनय गायक के साथ अच्छा नहीं रहा और उसने बदले में करण औजला को निशाना बनाते हुए एक गाना ‘वार्निंग शॉट्स’ भी जारी किया। इसके बाद दोनों के बीच ठंड शुरू हो गई।
  • प्रोफेसर धनेवर द्वारा अपनी मां के खिलाफ ग्रामीण विकास एवं पंचायत विभाग, एसएएस नगर, मोहाली के निदेशक को शिकायत दर्ज कराई गई थी जिसमें प्रोफेसर ने सिद्धू मूसेवाला द्वारा गाए गए भड़काऊ और अवैध गीतों का उल्लेख किया था। बाद में, चरण कौर ने पंडित राव धनेवर को एक माफी पत्र लिखा जिसमें कहा गया था कि भविष्य में उनका बेटा भड़काऊ गीत वाले गाने नहीं गाएगा।

Sidhu Moose wala के बारे में रोचक तथ्य –

  • उनका नाम, Sidhu Moose wala, उनके गाँव के नाम “मूसा” से प्रेरित है जो पंजाब के मनसा में स्थित है।
  • 2015 में, जब Sidhu Moose wala ने एक गाने के लिए पंजाबी उद्योग के एक प्रसिद्ध गीतकार से संपर्क किया, तो गीतकार चीजों को टालते रहे और बाद में उन्हें एक गीत देने से इनकार कर दिया। इस घटना ने उन्हें इस हद तक आहत किया कि उन्होंने अपने गीत खुद लिखने का फैसला किया। शुरू में वे लिखने में कमजोर थे लेकिन धीरे-धीरे वे इसमें अच्छे हो गए।
  • वह ‘चन्नी बांका’ को अपना गॉडफादर मानते हैं। यह बांका ही थे जिन्होंने सिद्धू को पंजाबी संगीत उद्योग से परिचित कराया और उन्हें कनाडा में नाम कमाने में भी मदद की।
  • रिलीज़ के लिए आधिकारिक तौर पर रिकॉर्ड किए जाने से पहले उनके लगभग 8 गाने लीक हो गए थे।
  • 2018 में, सिद्धू ने अपने नफरत करने वालों को निशाना बनाते हुए एक गाना ‘जस्ट लिसन’ लॉन्च किया।

सिद्धू मूसे वाला की हत्या (Sidhu Moose wala Death )

पंजाबी गायक और कांग्रेस नेता Sidhu Moose wala, जिनकी मानसा जिले में 29 मई 2022 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, का सुरक्षा कवच कल कम कर दिया गया था।

राज्य के ग्रामीण इलाकों में लोकप्रिय 28 वर्षीय गायिका उन 424 वीआईपी में शामिल हैं, जिनकी सुरक्षा कल भगवंत मान सरकार द्वारा वीआईपी संस्कृति पर नकेल कसने की कवायद के तहत कम कर दी गई थी।

इससे पहले चार सशस्त्र कर्मियों द्वारा संरक्षित, गायक को दो द्वारा पहरा दिया गया था, जब उसे आज शाम अपने गांव में अपने दोस्त से मिलने के लिए गोलियों से उड़ा दिया गया था।

नवीनतम दौर में जिन वीआईपी की सुरक्षा कम की गई थी, उनमें सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारी और धार्मिक और राजनीतिक नेता शामिल थे। इससे पहले, राज्य सरकार ने 184 पूर्व मंत्रियों, विधायकों और निजी सुरक्षा प्राप्त लोगों की सुरक्षा वापस ले ली थी। एक महीने पहले 122 पूर्व मंत्रियों और विधायकों की सुरक्षा वापस ले ली गई थी।

पूर्व मंत्री मनप्रीत सिंह बादल, राज कुमार वेरका, भारत भूषण आशु और पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का परिवार उन लोगों में शामिल थे, जिन्होंने अपनी सुरक्षा खो दी।

Sidhu Moose wala की हत्या से जुड़े हुए कुछ अनसुलझे सवाल

यहां पर कुछ अनसुलझे सवाल है जिनका जबाब अभी मुझे नहीं मिल पाया है और ये सब एक बस समान्य घटना तो नहीं हो सकती है। आपका क्या विचार है कमेंट बॉक्स में बताये।

  • Sidhu Moose wala के पास हतियारो का होना ? क्या उन्हें पता था की उनकी जान को खतरा है
  • क्यों बड़े बड़े गैंगेस्टर उनकी मौत के पीछे पड़े हुए थे ?
  • क्यों सिद्धू मूसे वाला का मैनेजर ऑस्ट्रेलिआ भाग गया जब गोल्डी बरार और लॉरेंस बिश्नोई के भाइयों की हत्या हुई थी ?
  • गोल्डी बरार और लॉरेंस बिश्नोई के भाइयों की हत्या का इल्जाम सिद्धू मूसे वाला के सर क्यूँ मडा जा रहा है ?
  • Sidhu Moose wala की टाइट सिक्योरिटी उनकी हत्या से एक दिन पहले हटा दी
  • VVIP लोगो की सिक्योरिटी हटाने की बात काफी सवेंदनशील होती है जिसकी भनक लोगो को नहीं लगती और यहां पूरी की पूरी लिस्ट जनता में लीक हो गई आखिर क्यों ?

Spread Love

Leave a Reply

Your email address will not be published.